चंन्द्रपुर मनपा विस्तार समय की माग, विस्तारीकरण से दुर्गापुर, उर्जाग्राम के नागरिको की समस्याओ निराकरण संभव

77

चंन्द्रपुर मनपा विस्तार समय की माग, विस्तारीकरण से दुर्गापुर, उर्जाग्राम के नागरिको की समस्याओ निराकरण संभव

चंन्द्रपुर/महाराष्ट्र
दि.10 नवंबर 2021
रिपोर्ट:- कामताकुमार सिह,दुर्गापुर

दुर्गापुर सवांददाता– चन्द्रपुर मनपा विस्तार पर अटकलें तेज है। कोई मनपा विस्तार के पक्ष में हैं तो कुछेक मनपा विस्तार नहीं चाहते। हालाँकि आम जनता को काम चाहिये, विकास चाहिए, सफाई चाहिए और अच्छा रास्ता चाहिए। आम जनता जानती है कि ग्रामपंचायत रहते उतना विकास संभव नहीं है जितना कि मनपा में आने पर हो सकता है।सड़क, उचित ढलान की नाली, सभी घरों में स्वच्छ मीठा पानी, ओपन स्पेस का विकास, पार्क का निर्माण, पगडंडी, खेल का मैदान चाहिए तो मनपा विस्तार जरूरी है। सड़क का अतिक्रमण ,नाली का जमीन का कब्जा और ओपन स्पेस से अतिक्रमण कर्ताओं से मुक्ति चाहिये तो मनपा विस्तार में उर्जानगर दुर्गापुर ग्रामपंचायत क्षेत्र को शामिल होना जरूरी है।
आज के समय में दोनों ग्रामपंचायतों का गृह कर और पानी कर मनपा के आस पास ही है।

उर्जानगर ग्राम पंचायत ने नल कनेक्शन के 1060 रुपये जमा करवाये ,वही नल कनेक्सन जोड़ने में 2000/रुपये से ज्यादा रक्कम ठेकेदार के माध्यम से लिया गया। अर्थात एक नल कनेक्शन के लिए नल कनेक्शन कर्ता को 3000/ रुपये से ज्यादा खर्च हुआ जबकि चन्द्रपुर मनपा में बगैर कोई खर्च के नल कनेक्शन मकान मालिक के दरवाजे तक पहुँचा है।

लोंग बड़े शहर की ओर रुझान बढा

  • मानव स्वभाव है ,जहाँ विकास होता है लोंग वहाँ ही जाना पसंद करते है। मानव हमेशा अपने से आगे की ओर जाना, रहना और बसना पसंद करता है और यहीं कारण है कि ग्रामीण लोंग तहसील के शहर में, तहसील के लोंग जिला के शहर में, जिला के लोंग उपराजधानी नागपुर और नागपुर के लोंग पुणे और मुंबई बसना चाहते हैं। यही बात विद्यर्थियों पर लागू होता है। विद्यार्थी अपने से बड़े शहर में जाकर पढ़ाई करना चाहते हैं। जितना बड़ा शहर होंता है उतना ही उस शहर के व्यक्ति का मूल्यांकन होता है। आज हमें बगैर मेहनत,बगैर खर्च के मनपा क्षेत्र में रहने का मौका मिलने का अवसर आते हुए दिख रहा है। ऐसे में ग्रामपंचायत वासियों को दिल खोलकर स्वागत करने की जरूरत हैं। ग्रामपंचायत वासियों की चाहिए कि पालक मंत्री,विधायक सहित अन्य जनप्रतिनिधियों से मिलकर माँग करनी चाहिये कि यथाशीघ्र मनपा विस्तार हो और उर्जानगर दुर्गापुर को इसमें शामिल किया जाए।

दुर्गापुर उर्जानगर मे ढीली रफ्तार से विकास की गति धीमी?

  • ताडोबा रोड पर पड़े कचरे और डिवाइडर पर रोपे गए पौधे की जगह बबूल के कांटेदार  उगा हुआ पेड़ से ही अंदाज लगाया जा सकता है कि  ग्रामपंचायत कितनी योग्यता रखता है? ग्राम पंचायतों के अधिकांश काम ग्राम विकास अधिकारी (सचिव )के सक्रियता पर निर्भर करता  है।अधिकांश सचिव सुबह 8 बजे ग्रामपंचायत नहीं पहुँचता है। 11 बजे आता है। ऐसे में ग्राम पंचायत का विकास कैसे संभव है? जबकि मनपा में बड़े छोटे अनेकों अधिकारी होते है।सबको जिम्मेवारी तय होती है। जलापूर्ति, सफाई, बांधकाम, कर वसूली जैसे  अलग अलग विभाग के अधिकारी और इंजीनियर तो होते ही हैं साथ ही अलग अलग  विभाग के सभापति, नियोजन विभाग, स्थाई समिति हुआ करते है।जिससे क्षेत्र का विकास होता हैं।