चंद्रपुर जिले में एसटी महामंडल कर्मचारियों की बेमुद्दत हड़ताल. महाराष्ट्र मे अब तक 29 एसटी कर्मचारियों की आत्महत्याएं

89

चंद्रपुर जिले में एसटी महामंडल कर्मचारियों की बेमुद्दत हड़ताल.

महाराष्ट्र मे अब तक 29 एसटी कर्मचारियों की आत्महत्याएं 

महाराष्ट्र राज्य

रिपोर्ट:- मोईन शेख संवाददाता

चंद्रपुर : पूरे महाराष्ट्र में एसटी महामंडल में कार्यरत कर्मचारियों को मात्र 12,000 रुपये वेतन मिलता है. इस अल्प वेतन, किराया, बच्चों की शिक्षा, माता-पिता की बीमारी का इलाज कैसे करें ? निजी सफाई कर्मचारियों को एसटी महामंडल से अधिक वेतन मिलता है?  चंद्रपुर एसटी कर्मचारियों ने मांग की है, कि हमें अन्य सरकारी कर्मचारियों की तरह भुगतान किया जाना चाहिए और सरकार में विलय कर दिया जाना चाहिए।

महाराष्ट्र मे अब तक 29 एसटी कर्मचारियों की आत्महत्याएं..!

  • ‌किसानों की तरह एसटी कर्मचारियों की आत्महत्याएं भी बढ़ी हैं। महाराष्ट्र में अब तक 29 एसटी कर्मचारियों ने आत्महत्या कर ली है। एसटी में शामिल होने वाले एक कर्मचारी को केवल 12,000 रुपये का वेतन मिलता है।  इसमें 1,500 रुपये आवास भत्ता, 100 रुपये कपड़े धोने का भत्ता, 70 रुपये रात का भत्ता मिलता है? एसटी कर्मचारियों के सामने यह सवाल है कि इतने कम वेतन से परिवार का खर्च कैसे उठाया जाए ?

सरकारी कर्मचारियों के आधे वेतन से इस वेतन पर घर चलाना मुश्किल हो रहा है।  साथ ही समय पर पगार नहीं मिलने से एसटी कर्मचारी संकट में हैं।

महामंडल का राज्य सरकार में विलय हो..।।

  • ‌दिवाली पर भी एसटी कर्मचारियों को पराज्य सरकार द्वारा सिर्फ 2,500 रुपये के बोनस की घोषणा की गई है. कर्मचारी सोच रहे हैं कि इतने कम बोनस के साथ दिवाली कैसे मनाएं।  इसलिए, यदि एसटी महामंडल का राज्य सरकार में विलय हो जाता है, तो अन्य सरकारी कर्मचारियों की तरह, एसटी कर्मचारियों को नियत तारीख पर भुगतान किया जाएगा, पगार में वृद्धि होगी, अन्य सुविधा का लाभ मिलेगा इसलिए एसटी महामंडल कर्मचारियों की आत्महत्या रोकने के लिए कर्मचारियों की मांगों को मानने पर जोर दे रहा है.

ये हैं मांगें

अन्य सरकारी कर्मचारियों की तरह पगार दी जाए

– आवास भत्ता, धुलाई भत्ता बढ़ाया जाए

– रात भत्ता बढ़ाएँ

– रात भर रुके कर्मचारियों के ठहरने की व्यवस्था की जाए

– अन्य राज्यों की तरह एसटी पर 5% यात्री कर लगाया जाए

-एसटी को टोल टैक्स से छूट दी जाए

-डीजल टैक्स माफ किया जाए क्योंकि यह एसटी सरकार की पहल है

सरकारी कर्मचारियों के रूप में एसटी कर्मचारियों का भुगतान करें

एसटी में शामिल होने वाले कर्मचारियों को सिर्फ 12,000 रुपये वेतन मिलता है। अन्य सरकारी कार्यालयों में काम करने वाले कर्मचारियों को 26,000 रुपये वेतन मिलता है।  इसलिए एसटी कर्मचारियों को अन्य सरकारी कर्मचारियों के समान वेतन दिया जाए।’ में शामिल होने वाले कर्मचारियों को सिर्फ 12,000 रुपये वेतन मिलता है। अन्य सरकारी कार्यालयों में काम करने वाले कर्मचारियों को 26,000 रुपये वेतन मिलता है।  इसलिए एसटी कर्मचारियों को अन्य सरकारी कर्मचारियों के समान वेतन दिया जाए।’