अंततः इंडोयूनिक फ्लेम लि. पर मामला दर्ज

51
अंततः इंडोयूनिक फ्लेम लि. पर मामला दर्ज
 
चंद्रपुर /महाराष्ट्र 
दि .08 म‌ई 2024

रिपोर्टर :- रमाकांत यादव जिल्हा प्रतिनिधि ग्लोबल महाराष्ट्र न्यूज नेटवर्क
पुरी खबर :-चंद्रपुर वरोरा वाश कोल की आपूर्ति करने वाली कंपनी इंडोयूनिक फ्लेम लिमिटेड के खिलाफ अंततः वरोरा पुलिस ने धोखाधड़ी तथा विश्वासघात करने के आरोप में मामला दर्ज किया है. जिससे औद्योगिक क्षेत्र में खलबली मच गई है. यह कार्रवाई कोयला, इस्पात और बिजली उत्पादन उद्योग में काम करने वाली बीएस इस्पात कंपनी की शिकायत पर की गई है. इस कंपनी ने विगत चार माह पहले वरोरा पुलिस में ‘वॉश कोल’ की आपूर्ति करने वाली कोयला वॉशरी कंपनी इंडोनिक फ्लेम लिमिटेड के खिलाफ धोखाधड़ी और विश्वास के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस इस मामले की अब तक जांच कर रही थी, जांच में तथ्य पाए जाने पर अंततः वरोरा पुलिस ने मामले का संज्ञान लेते हुए इंडोयूनिक फ्लेम लिमिटेड के निदेशक विपुल चौधरी के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया. कोयला, इस्पात और बिजली उत्पादन उद्योग में काम करने वाली बीएस इस्पात कंपनी को इंडोयूनिक फ्लेम कंपनी की ओर से वाश कोल की आपूर्ति की जाती थी. वाश कोल आपूर्ति का यह काम 28 दिसंबर, 2023 से एक अनुबंध के तहत किया जा रहा था, बीएस इस्पात कंपनी का आरोप था कि, इंडोयूनिक कंपनी ने उससे रॉ कोल वाश करने के लिए लिया. लेकिन इस कोयले को वाशरी ने अन्यत्र बेच दिया, जिससे अनुबंध के नियमों का उल्लंघन हुआ और कंपनी के साथ कोल वाशरीज कंपनी ने विश्वासघात किया. इस संदर्भ में बीएस इस्पात ने पुलिस में शिकायत दर्ज करते हुए आरोप लगाया था कि, कोल वाशरीज कंपनी ने उनका 25 हजार मीट्रिक टन कोयला अन्यत्र बेच दिया. यह कोयला साफ करके बीएस इस्पात कंपनी को लौटाने का ठेका है. बीएस इस्पात ने मार्च 2023 तक 41251.24 मीट्रिक टन कोयले को साफ करने और वापस करने के लिए इंडोयूनिक फ्लेम से अनुबंध किया है. आरोप है कि, इसमें से इंडोयूनिक ने केवल 16219.77 मीट्रिक टन कोयला वापस किया. वहीं 25031.77 मीट्रिक टन कोयला वापस नहीं किया गया. बी.एस. इस्पात ने 5 मार्च 2022 को इंडोनिक फ्लेम लिमिटेड को 41251.14 मीट्रिक टन कोयले की धुलाई का कार्य आदेश दिया था.