वेकोली के ब्रेक डाऊन बंकर से साइडिंग मे गिर रहा खराब कोयला, महाजैनको के बॉयलर जाम से करोड़ो का नुकसान

76

वेकोली के ब्रेक डाऊन बंकर से साइडिंग मे गिर रहा खराब कोयला, महाजैनको के बॉयलर जाम से करोड़ो का नुकसान

चंन्द्रपुर/महाराष्ट्र
दि.21 मार्च 2022
घुग्घुस प्रतिनिधि

पुरी खबर:- वेकोली वणी क्षेत्र घुग्घुस बंकर मे आए दिन कि खराबी होने से न्यु साइडिंग, ओल्ड साइडिंग मे गीरने वाला खराब कोयले के साथ साथ कोयले के बडे बडे डेले और मिट्टी मिश्रित कोयले को बगैर अच्छी तरह क्रेश किए महाजैनको मे बडी माञ मे भेजा जा रहा है। बताया जाता है कि यह कोयला जितना अच्छा होगा उसमे उतनी ज्यादा उष्णता, उर्जा पैदा होगी। जिस वजह से महाजैनको ने वासरीयो को कोयला वाश करके महाजैनको को भेजने के लिए बंद पडी वासरीयो को पुनः चालु किया गया है। इसलिए महाजैनको मे दिया जाने वाला कोयला को क्रश और धुलाई सख्ती से कि जाती है। बता दे की कोयला ही दुनिया मे बीजली बनाने का सबसे बडा स्ञोत माना गया है।

मिलावट खोरी से महाजनको के बायलर जाम

  • ‌आज कोयला कि जगह-जगह मे मिलावटखोरी होने से बिजली घरो के उपकरण मे आए दीन खराबी हो रही है। वेकोली कंपनी मे पैनगंगा, मुगोंली, निलजई, नायगाव, उकणी आदी कोयला खदान से कोयला का परीवहन घुग्घुस न्यु साइडिंग, ओल्ड साइडिंग,कारखाना मे बडी मात्रा मे होती है। लेकिन वेकोली कंपनी कि आय आर बंखर ब्रेक डाऊन होने से कोयले का क्रश और वाश का कार्य कई दीनो से बंद है।ऐसी स्थिति वेकोली के बंखर मे बार बार होते रहती। कंपनी द्वारा बंखर के बिगड जाने पर खराब और मटीयार ,बडा कोयला को वैगीन मे भरकर महाजैनको और नीजी पावर प्लांट मे भेजा जा रहा है।

 

वेकोलि की जुगाड से चल रहा क्रेशर

  • ‌भेजे गए कोयले को ऊपरी से डोजर क्रश का दिखावे का खेल रचा जा रहा है। ऐसे मे महाजैनको को अनक्रश और मटीयार कोयला भेजने से करोडो का नुकसान हो रहा है। वही वैगनो मे कोयले का बडा माल भेजकर अधिकारी और साइडिंग इंचार्ज की भुमिका कुछ अलग दिख रही है। ऐसे मे वैगीन पर कोयला लोड करने वाले नीजी आपरेटर का मुनाफा भी अलग बन रहा है। ऐसे सुञो से जानकारी प्राप्त हुई है।

महाजैनको की अनदेखी से कंपनी को भारी नुकसान

  • ‌महाजैनको को अपने हि कोयले की देख रेख और पावरं प्लांट के बायलरो मे जाने वाले कोयले की गुणवत्ता की जांच करने वाली टिम भी आज संदेह के घेरे मे नजर आ रही है। महाजैनको का जांच तंत्र आज कागजी घोडे दौडाने के अलावा अपने माल की सुरक्षा करने मे नाकाम साबित होता दिखाई दे रहा है। वही महाजैनको के आला अधिकारी मौन रख आखें मुदे हुए नदारद नजर आ रहे है। इतने गंभीर विषय पर ध्यान ना देना सरकारी कोष को हानि पहुचाने जैसा है। अचानक से महाजैनको के बॉयलर का जाम हो जाना और ट्यूब लीकेज होना यह छोटी घटनाए नही है। यह राष्ट्रीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाने जैसा है। इतने गंभीर विषय पर गंभीरता पुर्वक कार्य ना करना (सीटिपीएस) महाजैनको कार्यशैली पर सवाल खडे करता है। आला अधिकारी कीतने कर्तव्य दक्ष है यह इस भ्रष्टाचार प्रनाली के सुत्र धारो के खुलासे के बाद ही सामने आ सकेगा।

पर जांच कैसे हो?

  • आज महाजनको अपने हि कोयले की जांच करने मे असमर्थ नजर आ रही है? आला अधिकारी मौन साधे हुए है। लगता है उन्हें उपर से हि आदेश है? कोयला कैसा भी हो आपको जांच नहीं करनी है यह कैसा तंत्र है? अब कैसे होगी कोयले के गुनवत्ता कि जांच यह समझ के परे है. आश्चर्य की बात तो यह है. महाराष्ट्र के प्रमुख शहरो को बिजली पहुचाने वाली यह कम्पनी मे इतने बडे पैमाने मे संयत्रों को नुकसान होना राजक..

 

महाजनको के कर्मचारी को जडे थप्पड़

  • सुत्रो के अनुसार वेकोलि मे महाजनको के सेम्पलिंग कर्मी से वेकोलि के किसी अधिकारी के द्वारा मारपीट की घटना भी हो चुकी पर मामला उजागर नही हो पाया। बताया जा रहा है की कुछ दिन पुर्व यह घटना घटित हुई है।
    और महाजनको के अधिकारियों अपने ही कर्मचारियों के प्रति कितने संवेदनशील है इस घटना के सामने आनेके बाद इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।