वेकोली कोयला साइडिंग पर पेलोडर मशीन आग से जलकर खाक..!

34

वेकोली कोयला साइडिंग पर पेलोडर मशीन आग से जलकर खाक..!

चंन्द्रपुर/महाराष्ट्र
दि.16 मार्च 2022
रिपोर्ट:- घुग्घुस प्रतिनिधि

पुरी खबर:- वेकोली वणी क्षेत्र के पैनगंगा,  मुगोंली, कोयला खदान से कोयला का प्रोडक्शन अधिक होने से घुग्घुस न्यु कोयला साइडिंग मे कोयला का परिवहन भी दीन रात सुरू रहेता है। इसी कारण से न्यू कोयला साइडिंग मे चौबीस घंटे पेलोडर मशीन से रेल्वे वैगन मे कोयला लोड करने का कार्य भी सुरू रहेता है। दीन रात एक के बाद एक पेलोडर मशीन से कोयला भरने कि स्थिति बरोबर बनी रहने से पेलोडर मशीन का  रखरखाव, मेंन्टन्स भी नही होता है। जिसके कारण सोमवार 14 मार्च कि रात 7:10 बजे वेकोली न्यू कोयला साइडिंग मे एक निजी कंपनी की पेलोडर मशीन आग की लपटों मे जलकर स्वाह हो गई।सार्टसर्कीट से लगी इस आग से मशीन के चारो टायर जलने से मशीन का पुरा ढांचा धसकर जमीन मे बैठ गया था। घंटो तक आग मे जलती मशीन को एसीसी सिमेट कारखाना ,धारीवाल कंपनी तडाली से अग्नि शमन की गाडी बुलाकर आग को नियंत्रित किया गया। लेकिन वेकोली कंपनी खुद की मुगोंली खदान से बुलाई गई अग्नि शमन कि गाडी कुछ काम नही आयी

पेलोडर मशीन नीजी चड्ढा कंपनी की है। न्यू कोयला साइडिंग मे पेलोडर मशीन जलने से कंपनी को करोडों रू का नुकसान हुआ है।जिसके जवाबदार वेकोली प्रबंधन है। बताया जाता है कि वेकोली  कोल इडिया मे सबसे बडी कंपनी होने के बावजूद भी वेकोली वणी क्षेत्र मे कंपनी के पास एक अग्नि शमन गाडी तक नही है। जिसकें कारण कंपनी मे आग से होनेवाला हादसा को रोक पाना भी मुश्किल है। बता दे इसी तरह पिछले बार भी वेकोली इदिरा नगर वसाहत मे घर के अंदर लगी आग को बुझाने के लिए एसीसी कंपनी से ही अग्नि शमन की गाडी बुलाकर आग को बुझाया गया था।इस हादसा मे घर के अंदर रखे सारे समान जलने से वेकोली कर्मचारी को 40 लाख का नुकसान हुआ था।वेकोली कंपनी अभी भी नींद मे सो रही है।