सुरेश वाघमारे के विरुद्ध दुष्कर्म का गुनाह दर्ज कर तत्काल गिरफ्तार करने की मांग

53

सुरेश वाघमारे के विरुद्ध दुष्कर्म का गुनाह दर्ज कर तत्काल गिरफ्तार करने की मांग।

महिला ने पुलिस अधीक्षक के सामने लगाई गुहार.

अहमदनगर/महाराष्ट्र
दि.10 फरवरी 2022

पुरी घटना:- उपरोक्त विषय के अनुसार अहमदनगर की रहने वाली एक दलित पीड़ित महिला जिसकी उम्र 32 वर्ष, जाति-बौद्ध, व्यवसाय-श्रमिक, निवासी।  अम्बेडकर चौक, नागापुर एमआईडीसी, अहमदनगर।  जून 2019 में, अहमदनगर के पुणे बस स्टैंड पर जिंतूर निवासी सुरेश रामभाऊ वाघमारे उस महिला से मिला।   सुरेश वाघमारे ने उस महिला से दोस्ती कर ली।  फिर अगस्त 2019 में सुरेश रामभाऊ वाघमारे नागापुर एमआईडीसी इलाके में उस महिला के घर गया।  जब घर में कोई नहीं था तो उन्होंने उस महिला का हाथ पकड़कर शादी की मांग की।  जब उस महिला ने मना किया, तो उसने उस महिला से कहा, “मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ। मैं शादीशुदा हूँ लेकिन फिर भी मैं तुमसे शादी करता हूँ और यहाँ अहमदनगर में तुम्हारे साथ रहता हूँ और अपनी पत्नी और बच्चों से छिपकर तुम्हारे साथ रहता हूँ। ।”  जब उस महिला ने उन्हें मना किया तो उन्होंने उस महिला के अकेलेपन का फायदा उठाया और उस महिला की मर्जी के खिलाफ से करने के लिए मजबूर किया।  वह महिला रोने लगी और सुरेश वाघमारे ने डर के मारे उस महिला की अश्लील तस्वीरें और अश्लील वीडियो बना लिए।  उस महिला को यह भी धमकी दी गई थी कि अगर उसने किसी को कुछ बताया कि क्या हुआ है, तो सुरेश वाघमारे उस महिला की तस्वीरें और अश्लील वीडियो फेसबुक व्हाट्सएप पर वायरल कर देगा और उस महिला को पूरे समाज में बदनाम कर देगा।  जब पीड़ित दलित महिला ने सुरेश वाघमारे का  मोबाइल छीनने की कोशिश की तो उसने उस महिला को घूंसा मारा और जान से मारने की धमकी दी और अभद्र भाषा का भी इस्तेमाल किया।  उसके बाद सुरेश वाघमारे हमेशा जिंतूर से अहमदनगर आकर उस पीड़ित दलित महिला के साथ जबरन बलात्कार करता था।

महिला से 2 लाख रु भी मागे गए.!

  • 18 अगस्त 2020 को सुरेश रामभाऊ वाघमारे ने उस महिला को उसकी अश्लील तस्वीरें और अश्लील वीडियो दिखाया और उस महिला से 2 लाख रुपये की मांग की।  जब उस महिला ने 2 लाख देने से मना किया तो उसने उस महिला के साथ अप्राकृतिक शारीरिक संबंध बनाए और उसका वीडियो बना लिया।  उस दलित पीड़ित महिला ने अपनी दो दोस्त से पैसे लिए और सामाजिक कलंक के डर से उनके सामने भुगतान किया।

महिला को घर बुला परिजनों से पिटवाया.
सुरेश वाघमारे ने उस महिला को पैसे वापस करने के लिए अपने बड़े भाई बालाप्रसाद रामभाऊ वाघमारे के जिंतूर , जिला परभनी,स्थित घर बुलाया। वह पीड़ित महिला 12 जनवरी 2021 को रात 8 बजे जिंतूर शहर स्थित बालाप्रसाद रामभाऊ वाघमारे के घर गयी थी।  वहां भी सुरेश वाघमारे ने बालाप्रसाद वाघमारे की पत्नी और बेटी और भाई को बाहर निकाल कर उस महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाए।  जब वह महिला वहां बहस कर रही थी, तब सुरेश वाघमारे के मामा  जोकी सुरेश वाघमारे उन्हें मुरली मामा बुला रहे थे।  वह मौके पर पहुंचे और सुरेश वाघमारे, उनके भाई बालाप्रसाद वाघमारे, बालाप्रसाद वाघमारे की पत्नी और मुरली मामा ने मिलकर उस महिला को थप्पड़ मारे और गालियां दीं।  वहीं मुरली मामा की पत्नी और बेटी ने समस्या का समाधान किया।  साथ ही मुरली मामा की पत्नी और बेटी ने दो हजार रुपये देकर रात एक बजे उस दलित पीड़ित महिला को अहमदनगर भेज दिया.

धमकी और लिए गए अश्लिल फोटो की वजह से अबतक सामने नही आई.।।
अब तक, उस दलित पीड़ित महिला ने समाज में होने वाली बदनामी, कलंक के डर से और सुरेश वाघमारे के उस पीड़ित महिला को जान से मार डालने  की धमकी की वजह से वह दलित पीड़ित महिला आज तक यह अन्याय सहन करते आई थी। लेकिन आज वह पीड़ित महिला सामने आयी  और उसके साथ हुए अन्याय के संबंध में पुलिस अधीक्षक, अहमदनगर इनके पास लिखित शिकायत कर दी है।  ताकि सुरेश वाघमारे ने उस दलित पीड़ित महिला के साथ जो किया उसके लिए दंडित किया जा सके और किसी अन्य महिला के साथ ऐसा करने की हिम्मत न हो।

महिला ने पुलिस अधिक्षक के सामने लागाई गुहार..
आदरणीय  पुलिस अधीक्षक से  अनुरोध है कि सुरेश वाघमारे द्वारा उस महिला से जबरन लिए गए 2 लाख रुपये वापस  करें और उनके द्वारा किए गए अपराध के लिए उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दें।