दोस्ती कर इंजीनियरिंग कर रहे छात्र ने किया अपहरण , हत्या कर शव को किया आग के हवाले

620

चंद्रपुर/महाराष्ट्र

चंद्रपुर/घुग्घुस :- दिनांक 14 फरवरी 2021 को अपहरण कर हत्या की गई और शव को जलाकर ठिकाने लगाने की कोशिश किया गया. चंद्रपुर के घुग्घुस में स्थित रामनगर में रहने वाले दिलीप फुटाने इनके पुत्र शुभम फुटाने जोकि इंजीनियर के छात्र था वह 17 जनवरी 2021 से लापता था.

शुभम फुटाने के लापता होने के बाद उसका पता लगाने के लिए पुलिस निरंतर काम में लगी रही और परिवार वाले भी उसका पता लगाने की कोशिश कर ही रहे थे. कुछ समय पश्चात शुभम का अपहरण हो गया है ऐसा फोन कर अपहरणकर्ता ने फिरौती मांगी. फिरौती मांगने के पश्चात दोबारा अपहरणकर्ता का फोन नहीं आया.अंदेशा लगाया जा रहा है कि जब अपहरणकर्ता को अपनी साजिश नाकाम होती दिखाई देने पर उसने शुभम  की हत्या कर दी और उसके शव को आग के हवाले कर घुग्घुस में स्थित बायपास रोड पर स्वागत लान के सामने शुभम फुटाने के शव को ठिकाने लगाने की एक नाकाम कोशिश की है.

 

पुलिस ने आरोपी पकड़ा :- पुलिस शुभम फुटाने को खोज रही थी, तब शुभम फुटाने की दुपहिया वाहन का डा. दास के निजी अस्पताल के परिसर में होने की सूचना मिली जांच करने पर पाया गया कि शुभम फुटाने की दुपहिया वाहन में खून के धब्बे दिखाई दिए, खून के धब्बों का सैंपल लेकर पुलिस ने उसे जांच के लिए भेजा.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खून के धब्बे शुभम के ही थे पुलिस ने कुछ महीने पूर्व हुए अपहरण  के मामले में आरोपी रहे गणेश पिम्पडशेन्डे पर शक जाहिर किया और उसे बुलाकर कड़ी पूछताछ की कड़ी पूछताछ करने के उपरांत उसने हत्याकांड का गुनाह कबूल किया.आरोपी पिम्पडशेन्डे के ऊपर ३०२, २०४ के अंतर्गत गुनाह दर्ज़ किया है.

कुछ माह पूर्व भी अपहरणकर्ता ने नाकाम कोशिश की थी:- घुग्घुस शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी शनि खारकर के 8 वर्षीय बालक वीर का अपहरण कर लिया गया था. जिसकी शिकायत ( f.i.r ) वीर खारकर के पिता ने घुग्घुश पुलिस थाने में करवाई थी. वीर खारकर के पिता ने सोशल मीडिया में विर का पता लगाने के लिए प्रचार और प्रसार जोरों से किया और घुग्घुस पुलिस भी वीर का पता लगाने में लगी रही. घुग्घुस शहर के सीसीटीवी को खंगालने पर, अपहरणकर्ता माता देवी मार्ग पर गौसिया हार्डवेयर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद पाया गया. वह हेलमेट पहना हुए, एक 8 वर्षीय बालक को ले जाते दिखाई दिया. उस फोटो को सोशल मीडिया में अपहरण कर्ता ने देखा, वह डर गया और डरकर वह नागपुर से सोनेगाव पुलिस स्टेशन के करीब वीर को छोड़कर भाग निकला और वीर को सोनेगाव पुलिस ने घुग्घुस पुलिस से संपर्क कर सकुशल वीर को सौंप दिया. इस अपहरन की साजिश में पुलिस ने सीसीटीवी के आधार पर अपहरणकर्ता की टी-शर्ट को पहचान कर गणेश पिम्पडशेन्डे को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज किया. वह कुछ माह पूर्व ही जेल से जमानत लेकर बाहर आया था

शुभम फुटाने की हत्या में और खुलासे का अंदेशा :- दिनांक 14 फरवरी को पुलिस ने गणेश पिम्पडशेन्डे को कोर्ट में पेश कर पीसीआर मांगा और कोर्ट ने पुलिस को गणेश पिम्पशेन्डे को 4 दिन का पीसीआर दिया है. अंदेशा जताया जा रहा है कि होनार इंजीनियरिंग छात्र शुभम की हत्या और अपहरण में और भी लोग शामिल हो सकते हैं घुग्घुस पुलिस भी उसी दिशा में काम कर रही है आगे की जांच लोकल क्राइम ब्रांच बाड़ासाहेब खाडे के मार्गदर्शन में घुग्घुस पुलिस स्टेशन के थानेदार राहुल गांगुर्डे कर रहे हैं.

 

निकली आक्रोश रैली:- घुग्घुस परिसर में शुभम फुटाने की हत्या के उपरांत पूरे परिसर में आक्रोश का वातावरण था. जिसके चलते परिसर में शुभम फुटाने के आरोपी को मौत की सजा सुनाने के लिए कैंडल मार्च निकालकर पुलिस प्रशासन का विरोध कर निषेध जाहिर किया गया और हत्यारों को फांसी दी जाए ऐसा नारा लगाकर शुभम को श्रद्धांजलि दी गई.