वर्धा जिले में बोगस नर्सिंग कॉलेज का पर्दाफाश.!

31

वर्धा जिले में बोगस नर्सिंग कॉलेज का पर्दाफाश.!

अधिकृत कॉलेज के छाया तले, अनाधिकृत कॉलेज चला रहा था “अमोल श्रीवास्तव”…!!

वर्धा/महाराष्ट्र
दि। 22 जनवरी 2023
रिपोर्ट:- जिला संवाददाता

पुरी खबर :-  वर्धा जिले में शाॅलम नर्सिंग कॉलेज के प्रिंसिपल अमोल श्रीवास्तव ने लगभग 159 विद्यार्थियों का बोगस (fraud) कॉलेज में प्रवेश कर उनके भविष्य (career)  से खिलवाड़ किया है।

बता दें वर्धा जिले मे समता नगर स्थित शाॅलम नर्सिंग कॉलेज के श्रीवास्तव ने अपने काॅलेज के विद्यार्थियों के साथ आर्थिक और शैक्षणिक धोखाधड़ी (fraud) करने का मामला पिछले कुछ दिन पुर्व उजागर हुआ है।

जानकारी के अनुसार श्रीवास्तव का अनुमति (Permission) मिला हुआ काॅलेज, वह काॅलेज शाॅलम नर्सिंग कॉलेज है, यह शाॅलम नर्सिंग कॉलेज, कौंसिल में अधिक्रत (Registered) है।

काॅलेज में प्रवेश फुल हो गया, आप हमारे दुसरे काॅलेज में प्रवेश (Admission) कर लो..!

परंतु उस काॅलेज में प्रवेश (Admission) फुल हो गया है ऐसा कहकर वह कहता है, हमारे दुसरे और भी काॅलेज है जो “हेडगेवार, शिवाजी, और युनाईटेड की शाखा (Branch)” है। ऐसा कहकर वह विद्यार्थियों का “अनाधिकृत (unauthorised) काॅलेज शिवाजी या युनाईटेड” में प्रवेश (admission) करता है। उन विद्यार्थियों से ९० हजार लेकर और प्रवेश करने के लिए लगने वाले विद्यार्थियों के स्कूल के कागजात (Document) जमा कर लेता है। विद्यार्थियों को किसी भी प्रकार की रशिद में (sleep) नहीं देता यदि किसी के द्वारा रसीद (sleep) मांगी जाती है तो वह पाठ्यक्रम (course) खत्म होने के बाद देगा, ऐसा कह कर वह टाल देता है.

बोगस (Fake) बोनाफाइड देता है।

इस तरह वह विद्यार्थियों का प्रवेश (Admission) अवैध शिवाजी और यूनाइटेड कॉलेज में कर वह फ्रॉड (Fraud) करता है। वहीं विद्यार्थियों को  (identity card) भी नहीं देता, विद्यार्थियों द्वारा बस पास के लिए बोनाफाईड (bonafide) मांगने पर बोगस (Fake) बोनाफाइड देता है।

बोगस बोनाफाइड (Bonafide) लेकर जाने पर ST महा मंडल द्वारा बस (Bus) का पास नहीं दिया जाता है और ST महा मंडल कहता है कि कालेज अधिकृत (Registered) नहीं है और तो और इस कालेज में परिक्षा (Exam) भी नहीं होते वहीं पढ़ाया (Lecture) भी नहीं होते हैं।

हड़बड़ाहट में रातो रात कागजात गायब किए

यह मामला उजागर होने के बाद सभी विद्यार्थियों ने वर्धा के पुलिस थाने का रुख किया, मामला पुलिस थाने पहुंचने पर हड़बड़ाहट में श्रीवास्तव ने रातों-रात विद्यार्थियों के प्रमाण पत्र और संबंधित कागजात कॉलज से गायब कर दिए ऐसा आरोप विद्यार्थियों ने लगाया है
अचानक से हुए इस पूरे घटनाक्रम में विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ करने वाले शिक्षक श्रीवास्तव को पुलिस थाने में बुलाकर पूछताछ करने पर उसने विद्यार्थियों को लिखित आश्वासन दिया है कि वह उनसे लिए पैसे और कागजात जल्द ही वापस कर देगा

रोते बिलखते विद्यार्थी

इस घटनाक्म में पुलिस का ढुलमुल रवैया और (Fraud)  शिक्षक को गिरफ्तारी ना कर, सिर्फ पुछताछ से विद्यार्थियों में असंतोष का माहौल बना हुआ है। वहीं विद्यार्थियों के माता-पिता मानसिक तनाव में है। इतनी बड़ी घटना और प्रशासन का ढुलमुल रवैया विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ करने जैसा प्रतीत होता है। कुछ वीडियो में देखा गया है कि विद्यार्थी रोते बिलखते नजर आ रहे हैं।

शतरंज सी जिन्दगी में कौन किसका मोहरा है,

आदमी एक है मगर सबका किरदार दोहरा है।

यदि समय रहते प्रशासन ने इस गंभीर विषय को गंभीरता से नहीं लिया तो किसी भी प्रकार की अनहोनी होने पर कालेज प्रिंसिपल श्रीवास्तव जिम्मेदार होगा ऐसा बच्चों का कहना है। बच्चों ने अपने साथ हुए धोखाधड़ी के लिए लड़ाई जारी रखी है बच्चों का कहना है कि आने वाले समय में वह भूख हड़ताल पर बैठेंगे और सोए हुए प्रशासन की नींद जगाए अपने साथ हुए इस धोखाधड़ी के लिए वह माननीय उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को भी इस घटना से अवगत कराने की विद्यार्थियों ने ठानी है।