महाराष्ट्र में मिली बंदुको की फैक्ट्री, फैक्ट्री महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के बार्डर से लगे गांव पर

1357

महाराष्ट्र में मिली बंदुको की फैक्ट्री, फैक्ट्री महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के बार्डर से लगे गांव पर

बुलढाणा/महाराष्ट्र

दिनांक 13 मार्च 2021

धरणी पुरी खबर : धरणी के पास मध्य प्रदेश की सीमा पर खकनार के जंगलों में आठ जापानी बनावटी एवं पांचोरी गांव में तैयार किए गए बंदूकों के साथ दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 8 बंदूकें पाए जाने से परिसर में हलचल मची हुई है।

बुरहानपुर के पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार लोढा इनके मार्गदर्शन में खकनार पुलिस ने दांत पहाड़ के पास 2 लोगों को रोका, उनकी तलाशी करने पर उनके पास से आठ जापानी पिस्तल बरामद की गई।

 

सतपुड़ा पर्वत की श्रृंखला में बुलढाणा जिले की सीमा पर स्थित पांचोरी गांव में विभिन्न प्रकार के अवैध शस्त्र बनाए जाते हैं, ऐसा इस गिरफ्तारी के बाद पता चला है।

पकड़े गए आरोपी :- दान सिंग, प्यार सिंग, सिकलीगर ,हरपाल सिंग, तथा ओंकार सिंग इन्हें गिरफ्तार किया गया है।

धरणी तहसील की बाराताडा नाका से सिर्फ २० कि.मी के अंतर पर ही पाचोरी गांव होने से गांव को बुलढाना जिले के संग्रामपुर तहसील की सीमा लगी हुई है।

क्या इसके तार चंद्रपुर की हत्याओं से :- आज महाराष्ट्र में ही शस्त्रों के कारखाने मीलना और चंन्द्रपुर जिले मे कुछ दिन पुर्व हुई हत्याए, क्या इन शस्त्र कारखानों से जुड़ी हुई हो सकती है? क्योंकि सुरज बहुरीया की हत्या हो या फीर राजु यादव की हत्या, दोनो ही हत्याओं में बंदुको का इस्तेमाल हुआ है। और आरोपियों के पास से बंदुकें भी जप्त की गई है।

. क्योंकि आज तक यही सामने आया है कि, महाराष्ट्र में बंदुकें UP, बिहार से लाई जाती है।

. क्या यह बंदुकें इन्हीं कारखानों से लाई गई है? क्योंकि राजु यादव की हत्या के आरोपियों ने बंन्दुके बल्लारपुर के किसी     मृत व्यक्ति से ली है, एसा पुलिस के समक्ष बयान दिया है।

. क्या उस मृत व्यक्ति ने इसी कारखाने से वे बंन्दुके ली थी?

सुरज बहुरीया की हत्या में इस्तेमाल बंदुकें कहा से लाई गई थी? इसका भी खुलासा अभी तक नहीं हुआ है।