अकेली महिलाके घर मे घुसकर बंदूक से हमला करनेवाले आरोपी पोलीस गिरफ्तसे बाहर.

22

अकेली महिलाके घर मे घुसकर बंदूक से हमला करनेवाले आरोपी पोलीस गिरफ्तसे बाहर.

तीन महिने बितने के बाद भी पोलीस क्यो नही कर रही आरोपी की खोज?

चंद्रपूर प्रतिनिधी :-

पुरी खबर:- कहा गया है की अगर पोलीस चाहो तो जमीन आसमान एक करके आरोपी को कहीसे भी पकडकर ला सकती है मगर दाल मे कुछ काला हो तो सामने दिख रहे आरोपी को भी पोलीस पकड नही पाती  पोलीस की दोहरी नीती पिडीत लोगो पर कहर ढाती है और आरोपी खुलेआम घूम रहे होते है ऐसा ही कुछ वाक्या बिते 21 अप्रैल 2022 को घटा था जिसके आरोपी को पोलीस अभितक खोज नही पा रही है.

मामला है की एक अकेली महिला चंद्रपूर शहर के तुकूम के अपने घर में रह रही है, उस अकेली महिला के ऊपर एक अज्ञात युवक ने मुंह में गमछा बाध कर और मौका देख घर मे घुसकर उसने महिला के ऊपर देशी कट्टा तान दिया था, मगर अचानक हुए इस हमले में महिला ने उस अज्ञात अपराधी के हात पर धक्का मारा जिससे बंदूक दूर जाके गिरी उसके बाद उस महिलाने पुरी जी जान से प्रतिकार किया और चिल्लाना शुरु किया उस बीच महिला के पलटवार से अपराधी ने मकसद नाकाम होता देख, महिला की गला दबाकर मारने की कोशिश की पर महिला की चीख पुकार सुन पड़ोस में रह रहे किरायेदार ने महिला के घर में दौड़ लगाई पड़ोसी को आता देख अपराधी ने हड़बड़ाहट में देशी कट्टा छोड़ भाग निकला. इस हमले में महिला की हिम्मत से उसकी जान बच पाई और इस पुरे मामले की शिकायत दुर्गापुर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई गई।

पर आज लगभग 80 दिनों बाद भी दुर्गापुर पुलिस अपराधी को पकड़ने में नाकाम रही है? इतने दिनों बाद भी अपराधी का पकड़ा न जाना पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा कर रहा है? आज भी उस हमले के अपराधी के पकड़े ना जाने से महिला के जान पर खतरा बना हुआ है आज वह महिला भय के माहौल में जिने को मजबूर हैं..!

क्यो नही लग रहा आरोपी का पता?

  • बिते कही सालोसे महिला अकेली घर मे रह रही है क्योकी उसका ढाई सालका बच्चा उसके पतीने भगाकर लेकर गया जो पिछले पाच सालसे घर नही लौटा साथ ही उसके सास ससुर भी घर छोडकर भाग गये है इस मामले की उस महीला की कानूनी लढाई जारी है पर उसके पती और ससुर उस अकेली महिला पर कई मार्तंबा जाणलेवा हमला कर चुके है और यह भी हमला उशी पती और ससुर की साजिश हो सकती है ऐसा आरोप इस महिला ने लगाया है पर उस महिला ने जब पोलीस को रिपोर्ट मे स्पष्ट कहा की यह हमाला मेरे पती और ससुर की ही साजिश है तो फिर पोलीस क्यो नही ऊन दोनों को गिरफ्त ले रही? यह बहुत ही बडा सवाल है और इसमे दाल मे कुछ काला दिखाई पड रहा है. यदि वह अपराधी पकड़ा जाता है तो उसके पिछे के साज़िश कर्ता का खुलासा हो सकता था और पुन: हमला होने का खतरा भी टल सकता था.मगर पोलीस अभितक क्या कर रही उसका अभितक पता क्यों नही चला है?

पहले दो बार और भी हमले हुए.!

  • महिला से पुछताछ करने पर महिला ने अपने पति सास ससुर पर हमला करवाने का आरोप लगाया है महिला ने बताया की इसके पहले दो बार और भी हमले हो चुके है पर पुलिस अपराधियों तक नही पहुच पाई है। दिन दहाडे हुए इस जानलेवा हमले से परिसर मे दहशत का वातावरण फैला हुआ है इस बीच यदि खुलेआम घूम रहे अपराधी ने फिर से हमले की साज़िश रची और इस बार उसे कामयाबी मिलती है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा? क्या पोलीस इसका जिम्मा ले सकता है? इस वारदात की सूद पोलीस अधीक्षक सालवे ने लेनी चाहिये ताकी आगे की घटना को टाल सके.