चला मानकर रेत लेकर.! रेत का सेटिंग्स बाज कौन? मंथली की वसुली पर भरोसा बानकर?

65

चला मानकर रेत लेकर.!
रेत का सेटिंग्स बाज कौन? मंथली की वसुली पर भरोसा बानकर?

चंन्द्रपुर शहर/महाराष्ट्र
दि.07 फरवरी 2022

पुरी खबर:- चंन्द्रपुर जिले की रेत तस्करी आज चर्चा के चरम पर है 28  लिगल घाटो के निलामी के बाद भी इरई नदी की सुदरता पर रेत तस्कर ग्रहन की तरह लग चुके हैं और प्रसासन के कुछ अ…री लिपापोती कार्यवाही दिखाकर जनता को भ्रमित कर मधुर संबंधों मे फसे हुए है। शासन के जिआर का सहि से उपयोग किया जाए तो यह रेत तस्कर रेत तो क्या हवा की भी तस्कर नही कर सकते पर क्या कारण है? जिआर मे दिए गए निर्देशो को भुला दिया जाता है? या फिर शासन के रक्षको ने जिआर हि नही पड रखा है।

हमारे सुत्रो से मिली जानकारी के अनुसार हर टेक्टर से वसुली की जिम्मेदारी बानकर को दि गई है और वह अपने कर्तव्यों पर खरा भी उतर रहा है आज पर्यावरण प्रेमी और सामाजिक सगठन ने चुप्पी साध दिखावे की राजनीति कर रहे है? पर जनता जानती है.

आज हमारे सुत्रो द्वारा पता चला है की हर एक टेक्टर से प्रति माह वसुली कर, 45 हजार रुपए किसे दिए जा रहे है यह 45 हजार रुपए किसके लिए वसुले जा रहे है? इसपर प्रसासन के कर्तव्य निष्ठ अधिकारियों को ध्यान देना होना क्योकी चंन्द्रपुर शहर की साख मटिया मेत कर रहे रेत तस्वीरों पर अंकुश लगाना आज के समय की माग है।