वेकोलि को चोर लगा रहे लाखों रही की चंपत..! बडती कोयला और डिजल चोरी की घटनाओं आखें फेर वेकोलि सुरक्षा रंक्षक मुक दर्शक?

65

वेकोलि को लाखों की लग रही चंपत..! बडती कोयला और डिजल चोरी की घटनाओं
आखें फेर वेकोलि सुरक्षा रंक्षक मुक दर्शक?

चंन्द्रपुर/महाराष्ट्र
दि. 17 दिसंबर 2021

पुरी खबर:- कोयला खान मे चोरी की घटनाएं कोई नयी बात नही, चोरो की नजर कोयला खान मे पडे भंगार, हो या फिर कोयले की चोरी यह सिलसिला बरसो चला आ रहा है। अब चोरो ने वेकोलि से डिजल की चोरी को अंजाम दे रहे है। इसे रोक पाने मे वेकोलि प्रसासन नाकामयाब साबित हुआ है “कभी हेरा फेरी तो कभी चोरी” निऱतर रुप से होती आई है। इसे रोकने के लिए वेकोलि ने MSF  फोर्स को वेकोलि की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौपी है और वेकोलि के सुरक्षा कर्मी भी सहयोगी होते पर फिर भी चोरी को ना रोक पाना कुछ अधिकारीयो की लचिली व्यवस्था को दर्शाता है इसी लचिली व्यवस्था के कारण आज चोरो के हौसले बलंद है। कुछ मामलो मे चोरी की घटनाओं मे साठ गाठ की भी बु आ रही है।

इसी प्रकार की घटना हमारे सुत्रो द्वारा पता चली है दुर्गापुर OC कोयला खान से एक्सविटर मर्शिन 162 नान वर्क  (स्टेडिग मशिन) और ड्रिल मशीन से लगभग 1400 लिटर डिजल को शनिवार की अर्ध रात्रि मे चोरो ने डिजल चोरी को अंजाम दिया. जासमे वेकोलि को लगभग 1 लाख 30 हजार की चंपत लगी है।

पर अधिकारी अब तक मौन साधे हुए है सुत्रो के अनुसार अब तक एफ आय आर भी दर्ज नही की गई है। डिजल चोरो ने साठ गाठ कर चोरी को अजाम आसानी से दे रहे है। डिजल चोरो की गैग की वेश भुसा वेकोलि कर्मियों की तरह होती है। और बाकायदा डिजल और कोयला चोरी के लिए चार पहिया वाहन का भी इस्तेमाल होता है।

इतने चेक पोस्ट होने बाद यह वाहन वेकोलि परिसर मे पहुचते कैसे है? एक ही रात मे लाखो की डिजल चोरी कर मालामाल होना बगैर किसी अधिकारी के रहमोकरम से कैसे संभव है? यह सवाल आज आम जनता  मे ऊठ रहे है।

यदि समय रहते इन घटनाओं को ना रोका गया तो आने वाले समय मे चोरो को रोकने मे नाको चने चबाने होगे।