एकोणा विस्तारीकरण प्रकल्पग्रस्तो के नौकरी का प्रलंबित प्रश्न हंसराज अहीर के यशस्वी मध्यस्थी से निकला गया मार्ग.. जनवरी 2022 से 850 प्रकल्पग्रस्तो को नौकरी देने के लिए वेकोलि द्वारा लेखी आश्वासन

113

एकोणा विस्तारीकरण प्रकल्पग्रस्तो के नौकरी का प्रलंबित प्रश्न

हंसराज अहीर के यशस्वी मध्यस्थी से निकला गया मार्ग..

जनवरी 2022 से 850 प्रकल्पग्रस्तो को नौकरी देने के लिए वेकोलि द्वारा लेखी आश्वासन

चंन्द्रपुर/महाराष्ट्र
दि. 30 अक्टूबर 2021

चंद्रपूर – वेकोलि माजरी क्षेत्र की एकोणा विस्तारीकरण प्रकल्पग्रस्तो के नौकरी का  प्रलंबित प्रश्न पूर्व केंद्रीय गृहराज्यमंत्राी हंसराज अहीर ने प्रभावी रुप से हस्तक्षेप कर यशस्वी मध्यस्थी से आखिर मार्ग पर लगा है. वेकोलि के वरीष्ठ अधिकारीयो ने प्रकल्पगस्तो के करीबन 850 प्रकल्पग्रस्त किसानो को आनेवाली जानेवारी 2022 से नौकरी देने की लेखी स्वरूप मे मान्य किए जाने से पकल्पगस्तो को न्याय मिला है।

एकोणा विस्तारीकरण प्रकल्पग्रस्तो के लिए मार्डा, एकोणा, वनोजा, चरूर खटी, नायदेव व अन्य गावो के किसानो की जमीन अधिग्रहित की गई थी. इस जमीन मे अनेक किसानो की उपजाऊ जमीन का समावेश होने से वरोरा के तहसीलदार ने वेकोली प्रबंधन को सिचित के विषय मे अहवाल दिया था. परंतु वेकोली ने नकार दिया था। जिल्हाधिकाऱी ने  उपविभागीय अधिकारी को सात दिनो मे अहवाल तयार कर प्रस्तुत करने आदेश दिए थे   7-8 महिने होने के बाद भी अहवाल सादर नही होने से प्रकल्पग्रस्तो को परेशानी हो रही थी.

दि. 28 अक्टो. 2021 को चक्काजाम  बेमुदत आंदोलन सुरू किए थे.

पूर्व केंद्रीय गृहराज्यमंत्राी हंसराज अहीर ने प्रकल्पग्रस्त किसानो की न्याय की मागे और हक्क के लिए इस आंदोलन की पाश्र्वभूमी पर मध्यस्थी करते हुए वेकोलि मुख्यालय इसी प्रकार माजरी क्षेत्र के वरीष्ठ अधिकारीयो से यशस्वी चर्चा कर संबंधीत प्रकल्पग्रस्तो के नौकरी प्रलंबित प्रश्न को मार्ग पर लगाया है.

इस निर्णय से प्रकल्पग्रस्तो मे आनंद वातावरण  निर्माण हुआ और उन्होंने पूर्व केंद्रीय गृहराज्यमंत्राी हंसराज अहीर का अभिनंदन कर आभार व्यक्त किया.

इस चर्चा मे हंसराज अहीर के सह धनंजय पिंपळशेंडे, चंद्रशेखर पहापळे, शुभम गेघाटे, उमेश आवारी, स्वप्नील पिंपळकर, शंकर देरकर, मार्डाचे सरपंच बालाजी जोगी, उपसरपंच बालाजी कांबळे, वेकोलि मुख्यालय के अधिकारी श्री. रेवतकर, श्री. गोस्वामी, माजरी जीएम आॅपरेशन, उपक्षेत्राीय प्रबंधक, एरीया प्लानींग आॅफीसर आदीं का समावेश था.