डॉक्टरों की लापरवाही से WCL कर्मी की मौत…! हास्पिटल मैनेजमेंट के मुर्दा बाद के नारे लगाए गए. चंद्रपुर क्षेत्र के दुर्गापुर उपक्षेत्र में 33 वर्षीय कर्मचारी  मोहम्मद हसन मुर्तुज़ा अंसारी का निधन..!

111

डॉक्टरों की लापरवाही से WCL कर्मी की मौत…! हास्पिटल मैनेजमेंट के मुर्दा बाद के नारे लगाए गए.

चंद्रपुर क्षेत्र के दुर्गापुर उपक्षेत्र में 33 वर्षीय कर्मचारी  मोहम्मद हसन मुर्तुज़ा अंसारी का निधन..!

चंन्द्रपुर/महाराष्ट्र
दि. 05 अक्टूबर 2021
चंन्द्रपुर शहर–प्रतिनिधि

पुरी घटना :– चंद्रपुर क्षेत्र के दुर्गापुर उपक्षेत्र में 33 वर्षीय कर्मचारी  मोहम्मद हसन मुर्तुज़ा अंसारी का निधन..!

डॉक्टरों की लापरवाही से एक कर्मी की मौत...! हास्पिटल मैनेजमेंट के मुर्दा बाद के नारे लगाए गए. चंद्रपुर क्षेत्र के दुर्गापुर उपक्षेत्र में 33 वर्षीय कर्मचारी  मोहम्मद हसन मुर्तुज़ा अंसारी का निधन..!

मरीज़ की हालत गम्भीर होने के बाद भी उसे विशेषज्ञ के पास रेफेर नही किया?

  • प्राप्त जानकारी के अनुसार मोहम्मद हसन मुर्तुज़ा अंसारी वेकोली कर्मचारी का कुछ दिनों से इलाज चल रहा था अचानक 03/10/2021 पेट दर्द बड जाने से लालपेठ के क्षेत्रीय हॉस्पिटल चंन्द्रपुर में रात के 8.00 बजे ले जाया गया था. उन्हें सांस लेने मे दिक्कत हो रही थी। इसी कारण से उनको ऑनकॉल ड्यूटी डॉक्टर नेत्र विशेषज्ञ रेणुका देवी ने मरीज़ की हालत गम्भीर होने के बाद भी उसे विशेषज्ञ के पास रेफेर नही करना यही दर्शाता है डा रही नुका देवी की लापरवाही से 33 वर्षीय कर्मचारी  मोहम्मद हसन मुर्तुज़ा अंसारी जान चली गई. इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए ऐसी माग कोयला श्रमिक सभा  एच एम एस चंद्रपुर क्षेत्र ने उठाई है।

सभी लोग बोलने के बाद भी डॉक्टर रेनुका देवी नहीं सुनी..!!

  • मोहम्मद हसन मुर्तुज़ा अंसारी की हालत गंभीर होता देख दिनांक 4/10/ 2021 को ठीक 4:00 बजे नागपुर लेकर जाते हुए  निधन हो गया, उन्हें दिनांक 3/10/2021 को रात लगभग 8 बजे एरिया हस्पिटल लालपेठ में लेकर भर्ती किया गया था।  कोयला श्रमिक सभा  एच एम एस, चंद्रपुर के सदस्यों ने रेफर करने के लिए ड्यूटी डॉक्टर रेणुका देवी से बहुत आग्रह किए मैडम आप रेफर कर दीजिए। सभी लोग बोलने के बाद भी डॉक्टर रेनुका देवी नहीं सुनी और कहा की अभी कोई इमरजेंसी नही है उनके द्वारा बोला गया कि पहले वाइट फॉर्म भर के आओ उसके बाद हम कल सुबह रेफर करेंगे,फार्म लेकर गए डॉक्टर भट्टाचार्य साहब ने देखा और उसे रेफर भी किया लेकिन रिजल्ट क्या हुआ कि ले जाते समय रास्ते में इनका निधन हो गया इसका जवाबदार कौन है. इसका जवाब चाहिए इनके मौत के दोषी डॉक्टरों पर कार्यवाही होनी चाहिए। ऐसी मागो के साथ कोयला श्रमिक सभा एच एम एस,चंद्रपुर एरिया हस्पिटल लालपेठ सामने हास्पिटल मैनेजमेंट के मुर्दा बाद के नारे लगाए गए.