शालीवाना कारखाना मे चोरी का प्रयास गिरोह के तीन आरोपी गिरफ्तार, पुलिस कि सतर्कता ने चोरो के मनसुबो पर फिर पानी

72

शालीवाना कारखाना मे चोरी का प्रयास करनेवाले तीन आरोपी गिरफ्तार,

पुलिस कि सतर्कता ने चोरो के मनसुबो पर फिर पानी

यवतमाळ/महाराष्ट्र
दि.12 सितंबर 2021
रिपोर्ट:- हनिफ शेख संवाददाता
पुरी खबर:- यवतमाल जिला शिरपुर पुलिस थाना अंतर्गत शिंदोला गांव के पास बंद पडे शालीवाना कारखाने मे कल रात भंगार चोरी का प्रयास करनेवाले तीन अज्ञात आरोपी को शिरपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
इसी अपराध मे शामिल अन्य तीन आरोपी पुलिस को आता देख फरार होने मे कामयाब रहे। प्राप्त जानकारी के अनुसार वणी शिरपुर पुलिस थाना के अंतर्गत आनेवाला शिंदोला गांव के पास कई वर्ष से शालीवाना नाम का एक बंद कारखाना है। जिसके अंदर तांबा सहीत लोहे के बड़े बड़े महँगे सामग्री मौजूद है इस कारखाना के अंदर घुसकर मध्य रात बीच भंगार चोरो ने हजारों लाखों के समान भी चुरा लिए है जिसमें कंपनी को लाखो रूपए कि क्षति पहुची है।
यह घटणा कल रात 11,30 बजे कि है शिरपुर पुलिस द्वारा गणेश मंडल कि गस्ती सुरू थी कि इस दौरान पुलिस को शालीवाना कारखाना के पास एक सफेद रंग कि कार दिखाई दे रही थी पुलिस टीम ने जाल बिछाकर जब कार के पास मे पहुचकर देखा तो कार के अंदर तीन अज्ञात भंगार चोर दिखाई दिए, पुलिस ने कार के अंदर बैठे सभी आरोपीयो को रंगे हाथ धर दबोचा है।

सुरक्षा रक्षको को को डरा कर करते थे चोरी
  • ‌जिसमे मोहसिन निसार शेख उम्र (22) वर्ष, शाहरुख शहादतुल्लाह कुरैशी उम्र ( 24) वर्ष, तौहीद अहमद कुरैशी उम्र (22) वर्ष तीनो आरोपी घुग्घुस के रहवासी हैं। इनके पास एक कोयता, कुल्हाडी, दो आरीब्लेड, रस्सी, मोबाइल फोन, कुल 27,100 रू का मुद्दामाल जप्त किया गया कारखाना मे सुरक्षा रक्षक को डरा धमका कर अंदर चोरी का प्रयास करनेवाले अन्य तीन आरोपी पुलिस को देख भाग नीकलने मे कामयाब रहे है अजय नायक, जानी, कौशल ऐसे फरार आरोपी के  नाम बताए जा रहे है पकडे गए सभी आरोपीयो पर गुनाह दाखल कर वणी न्यायालय मे पेश किया गया है। शिरपुर पुलिस कि सतर्कता से चोरी की घटने होने से पहले ही चोरों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
इससे पहले भी तडाली की बंन्द पडीं कम्पनी मे कर चुके है चोरी
  • ‌सुत्रो से मिली जानकारी के अनुसार यह वहीं अपराधी है जिन्होने कुछ दिन पुर्व तडाली स्थित श्री ओम टि रोलिंग मिल मे एक बडी चोरी कि घटना को अंजाम दिया था और कम्पनी मे स्थिति ट्रांसफार्मर से ताबे के तारो को काटकर ले उडे थे जिससे कम्पनी को लगभग 70 लाख का नुकसान उठाना पडा था। पकडे गए गिरोह कि नजर जिले मे बंन्द पडी कम्पनीयो पर होती है। अब यह गिरोह के पुनः सक्रिय हो गया है।