कोयला अफ़रा-तफ़री..! राजुरा गढचांदुर मार्ग बना कोयला तस्करी का गढ़..! राष्ट्रीय संम्पति कोयले के लुटेरों को उनके अंजाम तक पहुंचाना आज समय की मांग…!

90

 

कोयला अफ़रा-तफ़री..!

राजुरा गढचांदुर मार्ग बना कोयला तस्करी का गढ़..!

राष्ट्रीय संम्पति कोयले के लुटेरों को उनके अंजाम तक पहुंचाना आज समय की मांग…!

 

चन्द्रपुर/महाराष्ट्र

दि. 23 अगस्त 2021

पुरी खबर राजुरा:- चन्द्रपुर जिले के राजुरा तहसील के अंतर्गत राजुरा गढचांदुर मार्ग पर अवैध कोयले के भंडारण का खुले आम हो रहा है। राजुरा पुलिस से आंख मिचौली खेल अवैध कोयला तस्करो ने राष्ट्रीय संम्पति कोयलों को खुले बाजार में बेच कर सरकार को करोड़ों का चूना लगा रहे है। राष्ट्रीय संपत्ति की रक्षा करने की जिम्मेदारी जीन पर है उनकी आंखों का बंन्द होना अवैध कोयला तस्करो से उनके मधुर संम्बधो को दर्शाता है।

 

राजुरा से गढचांदुर मार्ग पर खुले आम कोयला उतारकर पड़ोली वह नागाडा के प्लाटो पर बेच कर मोटी कमाई कर सेटिंग से पुरी कोयला तस्करी को निश्चिन्त होकर नियमित रुप से तस्करी को जारी रखें हुए। पुछे जाने पर हमारा कोई कुछ नहीं बिगड़ा सकता, हमने मंथली बांधी हुई है।

 

मंथली के बारे में बताए जाने के बाद अब प्रश्न उठने लाजमी है।

 

  • ‌राष्ट्रीय संपत्ति कोयले के लुटेरों को पकड़ने में पुलिस प्रसासन नाकाम क्यों है?
  • ‌ राष्ट्रीय संपत्ति कोयले की लुट में पडोली नागाडा के अवैध कोयला टाल धारक भी इस तस्करी में सामिल हो सकते हैं?

‌आज जहां आम जनता अपनी समस्याओं के निराकरण के लिए पुलिस से मदद की गुहार लगाती है वहीं यह खुलेआम कोयले की हो रही तस्करी से पुलिस की छवि धुमिल होती दिखाई दे रही है? और जनता में अविश्वास की भावना उत्पन्न हो रही है।

 

 

 

जनता में विश्वास बनाए रखने के लिए राजुरा पुलिस को इन अवैध कोयला तस्करो को उनके अंजाम तक पहुंचाना समय की मांग है।