शराब कि दुकान सुरू होने से कोरोना और अपराध को मिलेगी गति, शराब दुकानदार और ग्राहको पर कारवाई करने कि मांग..!

508

शराब कि दुकान सुरू होने से कोरोना और अपराध को मिलेगी गति

चन्द्रपुर/महाराष्ट्र
दि.24 जुलाई 2021
रिपोर्ट:- हनिफ शेख संवाददाता
पुरी खबर घुग्घुस:- जिले मे पिछले 6 वर्ष से चल रही शराबबंदी को महाविकास आघाडी के पालकमंञी विजय वडेट्टीवार के प्रयासों से हटाए जाने के बाद अब जिले भर मे शराब कि दुकान 5 जुलाई माह के सुरुवात से सुरू हो गई। शराब व्यवसायियों ने श्रेय जिले पालकमंञी विजय वडेट्टीवार को देवता मानकर उनके प्रतिमाएं कि पुजा, आरती उतारी तो कही पर शराब संचालको ने दौरे पर आए पालक मंत्री को एकजुट होकर फुलो के बड़ी बडी मालाए पहनाकर स्वागत किया। शराब सुरू होते ही पीने वालो का हुजुमसा दुकानो मे लगना सुरू हो गया है।

 

संचालक और ग्राहक मिलकर शासन जिला प्रशासन के कानून कि धज्जियां
  • जिले मे शराब कि दुकान खुलते ही लोग इस तरह उत्साहित हो गए कि शराब पीने वाले ग्राहकों साथ साथ संचालक भी यह भुल गए कि कोरोना नाम कि महामारी का दौर अभी सुरू है। इस बीमारी से सभी को आत्मनिर्भर होना चाहिए हम सुरक्षित तो देश सुरक्षित की भावना जनता के दिलो मे होना अति आवश्यक है। कोरोना महामारी से बचने का उत्तम उपाय सोशल डिस्टेसिग, मास्क का पालन करना तो लोग भुला ही गए उलट शराब कि दुकानो मे संचालक और ग्राहक मिलकर शासन जिला प्रशासन के कानून कि धज्जियां उड़ाते हुए नजर आ रहे है। लोग बीमारी से बेखौफ़ होकर दुकान के अंदर एक जगह बैठकर शराब कि चुस्की ले रहे है। देखकर लगता है कि पीने वालो पर कानून का कोई भी प्रतिबंध नही है कई शराब के प्रेमियों का यह कहेना है कि शराब मे मिले अल्कोहोल से कोरोना बीमारी भागता है। लोगो के बीच सामान्य स्थिति बनती है.

 

शराब दुकानदार और ग्राहको पर कारवाई करने कि मांग
  • इस कोरोना महामारी बीमरी मे कानुन कि धज्जियां उडानेवाले शराब दुकानदार और ग्राहको पर कारवाई करने कि मांग प्नाशासन से नागरीको ने कि है जिले मे शराब के सुरू होने से अपराधिक मामले भी बढ़ने के अभाव पर है। अपराध करनेवाले सख्स शराब कि हालत मे कुछ भी अपराध करने से नही घबराता, किसी से भी पुरानी दुश्मनी हो तो उसे मारने के लिए शराब का सहारा लेता है। पुलिस प्रशासन ऐसे अपराध करनेवाले के गतिविधियों पर विशेष ध्यान देकर जनता को सुरक्षा प्रदान करे ऐसी माग नागरीको द्वारा कि जा रही है।