राजुरा कोयला हेरा-फेरी खुलेआम कोयला तस्कर कम्पनीयो को लगा रहे लाखों का चूना सीमेंट कम्पनी प्रबंधक की अनदेखी, राजुरा पुलिस को अनदेखा कर खुलेआम कोयला हेरा फेरी के आका

922

राजुरा कोयला हेरा-फेरी
खुलेआम कोयला तस्कर कम्पनीयो को लगा रहे लाखों का चूना
सीमेंट कम्पनी प्रबंधक की अनदेखी, राजुरा पुलिस को अनदेखा कर खुलेआम कोयला हेरा फेरी

चन्द्रपुर/महाराष्ट्र
दि. 11 जुलाई 2021
पुरी खबर:-चन्द्रपुर जिले के राजुरा से गढ़चादूर जा रहे रास्ते के कोयले की तस्करी का मामला हो या रेलवे के रेक की कोयला चोरी से मिल जुल कर माल कमाने का तरीका अपनाया जा रहा है। आम जनता की रक्षा की जिम्मेदारी जीनके कन्धों पर है वे ही सहयोग की निती अपनाकर माफिया राज को बढ़ावा दे रहे है.!

 

 

राज्य सुरक्षा रक्षको और केन्द्र सरकार की सम्बंधित सुरक्षा फोर्स होने के बावजुद

  • चन्द्रपुर जिले गौन खनिज का बड़ी मात्रा होना चाहे वह काला सोना कहे जाने वाला कोयला हो या फिर सफेद हाथी की तरह मुल तहसील में पाई जाने वाली रेत पर माफीयाओ ने नजर गड़ा रखी है। इन माफियाओं ने कुछ राजनैतिक हस्तियो से संबंध बनाकर “काम दाम दंन्ड की निति” अपनाकर माफिया राज को “दो दुना रात चौगुनी” ऊंचाईयों तक पहुंचा रहे है यह आश्चर्यजनक है की राष्ट्रीय संपत्ति की जिम्मेदारी राज्य सुरक्षा रक्षको और केन्द्र सरकार की सम्बंधित सुरक्षा फोर्स होने के बावजुद पुर्व केन्द्रीय मंत्री को राष्ट्रीय संपत्ति की सुरक्षा की मांग करनी पड़ी है। और उन्हें राष्ट्रीय संपत्ति की हो रही चोरी को रोकने के लिए ड्रोन कैमरा लगाने के लिए कोल इन्डिया को पत्र द्वारा निवेदन देना पड़ा है।

 

इतने सब के बाद भी चन्द्रपुर जिले के राजुरा गढचान्दुर मार्ग पर वेकोलि से निकले कोयले को रास्ते में खुले आम उतारकर अवैध कोयला प्लाटो पर पहुंचाया जा रहा है इतना ही नहीं इन कोयला तस्करो की पहुंच रेल्वे साइडिंग में भी रेल्वे की बैगीनो से कोयला रास्ते में उतारा जाता है और प्रसासन बेबस दिखाई देता हुआ दिखाई पड़ रहा है।