कोयला आपुर्ती के साथ कोयला चोरीपर भी अंकुश लगाने की मांग करे सुधीरभाऊ !

1521

चंद्रपुर/महाराष्ट्र
दि. 12 अप्रैल 2021

पूरी :खबर- चंद्रपुर सुपर थर्मल पावर स्टेशन को बिजली उत्पादन के लिए पूर्ति के अनुसार कोयला उपलब्ध कराने की मांग आमदार सुधीर मुनगंटीवार ने की “यह सराहनीय और प्रशंसनीय कार्य है” इसके साथ ही बिजली उत्पादन के लिए दिए जाने वाले उच्च दर्जे का कोयला भी वेकोली की कमजोर नीतियों के कारण सब्सिडी प्राप्त कोयले को अवैध कोयला तस्कर खुले बाजार में ऊंचे दामों पर बेच अपनी तिजोरिया भर रहे हैं।

राष्ट्रीय संपत्ति की हो रही लूट पर अंकुश लगाने की मांग, नागपुर स्थित वेकोली (WCL) सीएमडी मनोज कुमार से अवश्य करें!

  • बीते 18 मार्च को यवतमाल जिले के वाणी स्थित तडाली जीएम अंतर्गत निलजई कोयला खान में प्राइड मेटल उद्योग को सब्सिडी के दिए जाने वाले कोयले के तीन ट्रक वणी पुलिस ने पकड़े और उन पर कार्रवाई कर बड़े अफरा-तफरी प्रकरण का पर्दाफाश किया था। पर उन डिपो से निकले ९३ ट्रकों को कहां खाली कराया गया है यह जांच भी अभी संदिग्ध अवस्था में है। इस कार्यवाही में पकड़े गए 7 अपराधियों की जमानत मंजूर होने के बाद भी मुख्य सूत्रधार कुबेर वर्मा और शहजाद शेख अब भी पुलिस के हाथ नहीं लग पाए हैं?

Read more


2G ,3G के बाद गिरी जी का घोटाला आया सामने, वणी में धरे गए तीन कोयले से भरे ट्रक


 

  • इसके पूर्व भी इसी तरह निजी टाल नगाड़ा और पडोली पर सब्सिडी के कोयले की हेराफेरी करते समय 26 ट्रकों को पुलिस नेव पकड़ा था इस प्रकरण में भी अपराधियों को जमानत मंजूर हो गई थी इन दोनों ही प्रकरण में राष्ट्रीय सम्पंती कोयले की चोरी हो रही है ऐसा देखा गया है सरकारी तंत्र की कमजोर नीतियों के कारण पुलिस मुख्य अपराधियों तक पहुंच नहीं पाती और यह गोरखधंधा इसी तरह चलता रहता है। अपराधी वही होते हैं पर पुलिस तथा विजलेंस की जांच में उनका खुलासा कमजोर नीतियों के कारण हो नहीं पाता है इससे वेकोली का तो नुकसान हो ही रहा है वहीं बिजली उत्पादन कंपनियों को भी निचले दर्जे का कोयला उपलब्ध हो रहा है।

कोयले का झोल, सीबीआई विजिलेंस के छापे के बाद कुछ ही किलोमीटर पर कोयले के हेरा फेरी का भंडाफोड़


  • चंद्रपुर सुपर थर्मल पावर स्टेशन कि जरूरत के हिसाब से कोयला प्रदान किया जाए यह मांग निश्चित ही सराहनीय है, परंतु कोयला हेराफेरी और चोरी पर अंकुशता भी उतनी ही जरूरी है| राष्ट्रीय संपत्ति की चोरी और अफरा-तफरी को रोकने के लिए आप ही प्रयास कर सकते हैं ऐसा जनता का विश्वास है बंद उद्योगों को कागजों में हेराफेरी कर उन्हें चालू दिखा कर सरकार से सब्सिडी पर कोयला लिया जाता है। अवैध कोयला व्यापारि एक चैन बनाकर इस गोरखधंधे को लगातार चलाते आ रहे हैं। इस पर अंकुश लगाने के लिए लोकप्रतिनिधी इस नाते से आपने सामने आकर इस गोरखधंधे पर अंकुश लगाएं.

 

वेकोलीने CTPS ला नियमीत कोळसा पुरवठा करण्याची आ. मुनगंटीवार यांची मागणी !

  • चंद्रपूर महाऔष्णिक विदयुत केंद्राला वेस्‍टर्न कोलफिल्‍डस लिमीटेडच्‍या माध्‍यमातुन अनियमीत कोळसा पुरवठा होत असल्‍यामुळे भविष्‍यात विज निर्मीतीवर होणारा विपरीत परिणाम लक्षात घेता सदर औष्णिक विदयुत केंद्राला आवश्‍यकतेनुसार नियमित कोळसा पुरवठा करण्‍याची मागणी विधीमंडळ लोकलेखा समितीचे प्रमुख तथा माजी अर्थमंत्री आ. सुधीर मुनगंटीवार यांनी केंद्रीय कोळसा मंत्री आणि वेकोलिचे सिएमडी मनोजकुमार यांचेकडे केली आहे.
  • चंद्रपूर महाऔष्णिक विदयुत केंद्राची स्‍थापीत क्ष्‍ामता 2920 मेगावॅट इतकी आहे. या विज निर्मीती केंद्राला विज निर्मीतीसाठी 50 हजार टन कोळश्‍याची आवश्‍यकता आहे. मात्र सदयस्थितीत युटीएस, रोपवे, रोड ट्रान्‍सपोर्ट या माध्‍यमातुन भटाळी, दुर्गापूर, पद्मापूर येथील खाणींच्‍या माध्‍यमातुन 12 हजार मेट्रीक टन कोळसा नियमित उपलब्‍ध होत आहे. मात्र कोळश्‍याची रोजची मागणी 50 हजार टन असल्‍यामुळे एनबॉक्‍स तसेच डीओबीआर च्‍या माध्‍यमातुन 35 हजार टन कोळसा अपेक्षीत आहे. गेल्‍या काही महिन्‍यांपासुन वेकोलिच्‍या माध्‍यमातुन चंद्रपूर महाऔष्णिक विदयुत केंद्राला नियमित कोळसा पुरवठा होत नसल्‍याचे निदर्शनास आले आहे. भविष्‍यात याचा विपरित परिणाम विज निर्मीतीवर होवू शकतो. ऐन उन्‍हाळयाच्‍या कालावधीत विज निर्मीती ठप्‍प होण्‍याचे संकट यामुळे उद्भवू शकते.
  • चंद्रपूर महाऔष्णिक विदयुत केंद्र हे वेकोलिच्‍या खाण क्षेत्रात स्‍थापित असल्‍यामुळे वेकोलिच्‍या माध्‍यमातुन आवश्‍यकतेनुसार नियमित कोळसा पुरवठा होणे अत्‍यंत आवश्‍यक आहे. त्‍यामुळे याकडे प्राधान्‍याने लक्ष देण्‍याची मागणी आ. सुधीर मुनगंटीवार यांनी केली आहे.