अंतरराज्यीय गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश, उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किए गए रॉबरी के अपराधी

802

पहले भी कई राज्यों में कर चुका है यह गिरोह डकैती

चंद्रपुर/महाराष्ट्र
दिनांक 4 अप्रैल 2021

पुरी खबर :- चंद्रपुर जिले के बैंक ऑफ महाराष्ट्र टेंभुर्णी में दिनांक 19 मार्च 2021 को रात आठ के दरमियान बैंक के इमारत की पीछे की खिड़की को गैस कटर से काट अपराधियों ने अंदर प्रवेश किया। बैंक के चैनल के ताले को तोड़ और लोखंड की तिजोरी को काट कर उसमें रखे गए 6 लाख 88 हजार 130 ₹ नगदी और 93.100 ग्राम सोने के गहने एसे कुल 11 लाख 35 हजार 10 ₹ की चोरी की थी.जिसकी शिकायत वरोरा पुलिस थाने मे दर्ज कराई गई थी।

रॉबरी में लिए इस्तेमाल सामग्री बरामद की :-

  • इस घटना की जानकारी लोकल क्राइम ब्रांच को प्राप्त होते ही पुलिस निरीक्षक बालासाहेब खाडे ने तत्काल घटनास्थल पर पहुंच निरीक्षन कर देखने पर पाया कि बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरों को तोडा गया और डीवीआर का कनेक्शन काट दिया गया। गैस कटर के सिलेंडर को घटनास्थल से 1 किलोमीटर दूर पर खेत में फेंक दिया गया है पुलिस रॉबरी में इस्तेमाल सभी सामग्री बरामद कर आगे की दिशा की जांच में लग गई।

पहले भी यह गीरोह को गिरफ्तार किया जा चुका है :-

  • आगे की जांच करने पर सामने आया कि 2013 में इसी प्रकार की घटना चंद्रपुर जिले में हुई थी और उस घटना में अलग अलग राज्यों से अपराधियों को गिरफ्तार भी किया गया था। कुछ दिन पूर्व ही भंडारा गोंदिया और तेलंगाना राज्य में भी इसी प्रकार की रॉबरी हो चुकी है पूरी घटना को एक साथ मिलाने पर यह पता चला कि अपराधियों के गुनाह करने की कार्यशैली सभी डकैतीयों में एक प्रकार सी है जिससे लोकल क्राइम ब्रांच ने साइबर सेल से मदद ले आगे की जांच करने पर पता चला कि उत्तर प्रदेश के ककराला गांव के और महाराष्ट्र के कुछ अपराधी भी इस अपराध में शामिल है।

कुछ अपराधी गोदियां जिले के :-

  • दिनांक 26 जून 2021 को गोंदिया जिले के गिरोली हेटी गांव से देवीदास रूपचंद कापगते, राजु वसंत वर्भे और संकेत तेजराम को पडौली जिला चंद्रपुर से गिरफ्तार कर गहरी पूछताछ करने पर सामने आया कि अपराध में इस्तेमाल वाहन राजू वर्भे इनके नाम पर है और अपराधियों ने उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के और भी अपराधी शामिल होने की बात कबूली है। जिसमें लोकल क्राइम ब्रांच ने एक दल स्थापित कर उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में रवाना किया।

उत्तर प्रदेश पहुंचा पुलिस दल :-

  • बदायूं जिले में पहुंची पुलिस ने वहां के पुलिस महानिरीक्षक से संपर्क कर एक गोपनीय ककराला मिशन तैयार किया जिसमें मुख्य अपराधी नवाब उल हसन का नाम सामने उभर कर आया जो कि जबलपुर का भी एक मोस्ट वांटेड अपराधी है।
  • उत्तर प्रदेश पहुंचे दल को वहां पर जानकारी प्राप्त हुई कि नवाब उल हसन दिनांक 31 मार्च 2021 को अपने साथी दानवीर उर्फ गसटु को हसनपुर में मिलने आ रहा है, जिसके आधार पर पुलिस ने आलापुर में चारों ओर पुलिस दल की तैनाती की कुछ समय बाद पता चला कि अपराधी एक खेत में रुका हुआ है. पुलिस दल उन्हें गिरफ्तार किया जिसमें कुछ पुलिस कर्मियों को मामूली चोटे भी आई है।

गिरफ्तार कर अपराधियों के पास से सामग्री जप्त की :-

  • अपराधियों को गिरफ्तार कर चंद्रपुर पुलिस के स्थानीय अपराध शाखा ने वरोरा में हुई बैंक रॉबरी का पर्दाफाश कर आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिसमें आरोपियों के पास से अलग-अलग प्रकार के सोने के 2 किलो 800 ग्राम जेवरात जप्त किए, जिसकी कीमत एक लाख 11 हजार रुपए, अपराध के इस्तेमाल में लाई गई बोलेरो MH-34-AM-6250 जिसकी कीमत 5 लाख और बैंक के एटीएम फोड़ने में इस्तेमाल गैस सिलेंडरो की कीमत 25 हजार है।  इसी प्रकार अन्य सामग्री के साथ 1 करोड़ 7 लाख 34 हजार 300 रूपए  की कुल कीमत का माल जप्त कीमा गया है।

एसपी के मार्गदर्शन में कार्रवाई :-

  • यह कार्रवाई चंद्रपुर जिले के एसपी अरविंद साळवे, अपर पुलिस निरीक्षक प्रशांत खैरे स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक बालासाहेब खाडे, सा.पो.नी जितेंद्र बोबडे, पो.उ.नी. संदिप कांपडे, नितिन जाधव महेंद्र भुजाडे,अविनाश दशमवार ,अनुप डांगे, सतिस बगमारे, प्रफुल्ल मेश्राम, कुन्दन बावरी,अमोल धदरे, प्रशांत नागोशे के साथ तांत्रिक की विशेषज्ञों का भी योगदान रहा है| इस अपराध में अपराधियों ने ऐसे ही 11 गुनाह करने की बात कबूल की है।
    यह कार्रवाई कर पुलिस ने अपराधियों में दहशत स्थापित कर और कानून का भय स्थापित करने मे कामयाबी हासिल की है।