हत्यारों पर मकोका लगाने की मांग, ट्रांसपोर्ट व्यापारी राजु यादव प्रकरण, जानिए पुरा घटना क्रम..!!

1405

चंद्रपुर/महाराष्ट्र

हत्यारों पर मकोका लगाने की मांग, ट्रांसपोर्ट व्यापारी राजु यादव प्रकरण, जानिए पुरा घटना क्रम

दि. 04 मार्च 2021

पूरे महाराष्ट्र तथा विदर्भ में विकसित तथा प्रगतिशील जिलों में से एक जिला चंद्रपुर है यहां पर कई छोटी-बड़ी फैक्ट्रियों के साथ बड़ी बड़ी कोयला खदानें हैं, तथा विभिन्न प्रकार का गौन खनिज भी इसी जिले में पाया जाता है। यह जिला प्रमुख रूप से कोयला खानों की वजह से प्रचलित है। इन्ही कोयला खानों में कुछ ट्रक मालको तथा चालको ने अपने-अपने क्षेत्र में ट्रांसपोर्ट संगठनाए बनाई है। इन संगठनों को ट्रक मालको चालकों द्वारा चुना गया अध्यक्ष ही पूरी संघटना का संतुलन बनाने का कार्य करता है। इन्हीं संगठनों में से एक संघटना सास्ती में है, जहां पर सास्ती, पवनी, गौरी ऐसी कई बड़ी खदानें हैं। इन खदानों में ट्रक चालकों मालको की संगठना के सचिव राजू यादव थे।

पूरी घटना :- दिनांक 31 जनवरी 2021 की शाम 6:30 बजे राजु यादव एक मीटिंग समाप्त कर अपने घर की ओर निकले थे, पर उन्होंने रास्ते में ही तीन नंबर नाके के पास स्थित मयूर सैलून की दुकान पर हेयर कट करने के लिए रुके थे, पर हेयर कट सलून में पहले से ही मौजूद ग्राहकों की संख्या ज्यादा होने से उन्हें कुछ समय के लिए रुकना पड़ा पहले से ही मौके की तलाश कर रहे, आरोपियों ने बगैर मौका गवाह अपने सहयोगी के साथ बाइक पर सैलून की दुकान में आ धमके, और सलून के चेयर पर बैठे राजू यादव पर लगातार गोलियां दागने लगे। अचानक हुई गोलीयो की बौछार से राजू यादव को संभलने का मौका नहीं मिला वह वहीं गिर पड़े, और उनकी घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई। अपने काम को अंजाम देकर आरोपी हड़बड़ाहट में अपनी दोपहिया वाहन छोड़ फरार हो गए।

आरोपियों के नाम और लगी धाराएं :- राजू यादव की हत्या में धरे गए आरोपी चंदन सिंह और सुरेंद्र सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल रवाना किया है। आगे की जांच राजूरा पुलिस स्टेशन के थानेदार बहादुरे कर रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने आरोपीयो से दो माउजर गन बरामद कि है। यह हथियार बल्लारपुर के किसी मृत व्यक्ति से लिए गए थे, ऐसा दोनों आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ में बताया है।

दोनों आरोपी पहले राजु यादव के ही सहयोगी थे :- प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी चंदन सिंह पहले शास्त्री यूनियन का ही सदस्य था,और वह पहले गाड़ियों को परमिट देने का काम किया करता था।

दूसरा आरोपी सुरेंद्र सिंह को राजू यादव ने अपने एक ट्रक में ड्राइवर के पद पर कार्यरत किया था जिससे वह अपनी आजीविका चला सकें।

मनसे उपाध्यक्ष राजू कुकड़े और राजू यादव के परिवार की पत्र परिषद :- दिनांक 1 मार्च 2021 को मनसे के उपाध्यक्ष राजू कुकड़े और राजु यादव का पुत्र आशीीष, भतीजा दीपक सहयोगी के साथ पत्रकार परिषद लेकर आरोप लगाया कि पुलिस आरोपी और षड्यंत्रकारीर्यों को बचाने की कोशिश कर रही है। राजू यादव के पुत्र ने कहा मेरे पापा की जब हत्या हुई उस समय वहां और भी लोग मौजूद थे। वह लोग पुलिस द्वारा दिखाई गई सीसीटीवी में भी दिखाई दे रहे हैं और सैलून की दुकान में मेरे पापा के बॉडीगार्ड को अचानक आकर, गुड्डू टायर वाले के द्वारा खर्रा खाने के लिए रोड के उस पार लेकर जाना और उसी समय आरोपियों का हमला करना, यह साबित होता है कि गुड्डू टायर वाला भी हत्या के षड्यंत्र में शामिल है। पर पुलिस ने अभी तक गुड्डू टायर वाले से किसी भी प्रकार की पूछताछ नहीं की है।

https://www.globalmaharashtranews.com/2021/03/03/breaking-news/1542/

पहले हुए पवनी खदान के वाद विवाद में यही आरोपी :- राजू यादव के पुत्र ने बताया कि 1 वर्ष पूर्व चंदन सिंह अनिल झा, दुल्लुर पाठक, मनीष शर्मा के साथ पवनी खदान में गाड़ी के नंबर के लिए हाथा पाई हुई थी। जिसकी शिकायत राजुरा पुलिस थाने में दर्ज कराई गई थी। बाद में समझौता हो गया था। उस समय भी चंदन सिंह ने माउजर गन राजू यादव के ऊपर तानी थी। यह भी उस f.i.r. में बताया गया था। आशीष ने कहा कि मेरे पापा मुझे बताया करते थे कि कभी कभी यह लोग उन्हें मारने की धमकियां देते हैं, इनकी धमकी आने से हत्या के 1 माह पूर्व भी इनके नाम पर शिकायत दर्ज कराई गई थी। पर पुलिस ने किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की यदि उस समय ही आरोपियों को पकड़ कर पूछताछ की जाती तो शायद आज मेरे पापा जीवित होते।

मनसे जिला उपाध्यक्ष राजू कुकड़े ने आरोपियों पर मकोका लगाने की मांग की :- चंद्रपुर मनसे जिला उपाध्यक्ष राजु कुकडे ने पत्रकार परिषद में कहा चंद्रपुर जिले में कई हत्याए गोली मारने से हुई है और कई बार बंदूकों के साथ आरोपी भी पकड़े गए हैं। जैसे कुछ वर्ष पूर्व राजुरा के जंगल में ही वकील की हत्या, बल्लारपुर में सूरज बहुरिया की हत्या, कुछ दिन पूर्व पडोली में एक व्यक्ति बंदूक के साथ पकड़ा गया। कई बार बंदूकों का मिलना कुछ दशक पूर्व चंद्रपुर में रामाळा तलाव में खोलिकरण के समय लगभग 200 -250 काररतुस मिलना पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगाता है। ऐसे कई मामलों का मनसे उपाध्यक्ष राजू कुकडे ने पंत्र परीषद मे उदाहरण देकर कहा इतनी आसानी से बंदूकें, कट्टे, माउजर कैसे चंद्रपुर जिले में पहुंच रहे हैं। यह भी एक शोध का विषय है, गुनहगारों को आसानी से बंदूकें मिलना पुलिस प्रशासन के इंटेलिजेंट फेलिवर का प्रमाण है।

राजू यादव की हत्या माउजर गन से :- राजू यादव की हत्या माउजर गन से हुई है और पुलिस ने आरोपी चंदन सिंह और सत्येंद्र सिंह के पास है, दो माउजर गन बरामद की है। पत्र परीषद में राजू कुकड़े ने बताया कि यह हत्या कोई साधारण तौर पर की गई हत्या नहीं है, यह हत्या पूरी प्रि प्लानिंग से की गई है। जिसमें और भी लोग सामिल है और वे अभी पुलिस की पहुंच से दुर है। जिसे परिवार ने पुलिस को दिए बयान में दर्ज भी करवाया है, क्योंकि यह हत्या षड्यंत्र रचकर और संगठित होकर की गई है‌। जिससे पुलिस ने आरोपियों पर मकोका लगाया जाए और राजु यादव के परिवार को जान का खतरा होने से उनके घर पर पुलिस बंदोबस्त या आत्मा संरक्षण के लिए बंदूक के लाइसेंस का परवाना दिया जाए ऐसी मांग पत्रकार परिषद में राजू कुकड़े ने की है।