WCL डंपर ऑपरेटर की दुर्घटना मे मौत, बल्लारपुर एरिया की सस्ती ओपन कास्ट माइंस में दुर्घटना

1012

चंन्द्रपुर/महाराष्ट्र

चन्द्रपुर/बल्लारपुर :- 16 फरवरी 2021 को चंद्रपुर जिले की बल्लारपुर एरिया में वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की सस्ती ओपन कास्ट माइंस में दि. 16 फरवरी को सुुुुबह 10.30 AM पर डंपर कोयला लेकर कोल स्टॉक में पहुंचा, कोल स्टॉक में पहुंचने के उपरांत वह रिवर्स कोयले को अनलोड करने के लिए पीछे लेने लगा, इसी दौरान उसने अपने डम्फर की गति को काबू में नहीं कर पाने से वह कोल स्टाक के ऊंचे पहाड़ से सीधा जमीन पर आ गिरा. जमीन पर उसके चारों चक्के ऊपर हो गए, जिससे डंपर ऑपरेटर अशोक खारताड उम्र 54 वर्ष गंभीर रूप से जख्मी हो  गए उन्हें तत्काल रेस्क्यू कर अस्पताल में ले जाया गया.और उसकी मौत हो गई है.

WCL की सुरक्षा में चूक :- प्राप्त जानकारी के अनुसार कोल स्टॉक में सुरक्षा का अभाव होने के कारण यह दुर्घटना घटी है ऐसा वहां के कर्मियों का कहना है

1) आखिर डब्ल्यूसीएल अपने कामगारों की सुरक्षा का ध्यान क्यों नहीं रख पा रही है? 

2) ऐसी घटनाएं डब्ल्यूसीएल में आए दिन क्यों होती ही रहती है?

कुछ दिन पूर्व ही पद्मापुर खदान में मिट्टी का एक बड़ा भाग ढह जाने से 100 करोड़ की मशीनें जमींदोज हो गई थी और उस दुर्घटना में कुछ कर्मचारी बाल-बाल बचे थे.

अभी तक उस चूक के जिम्मेदार अधिकारियों का पता नहीं लग पाया है बार-बार ऐसी चूक होना और गलती करने वाले अधिकारियों को डब्ल्यूसीएल के आला अधिकारियों द्वारा अभय दान देना क्या साबित करता है? जिससे डब्ल्यूसीएल की सबसे बड़ी लापरवाही इसी प्रकार समय समय पर सामने आति रहती है यदि समय पर, सुरक्षा से समझौता करने वाले अधिकारियों पर कार्यवाही की जाती. तब शायद ऐसी घटनाएं पुनः ना होती.

आज अशोक खारताड की मौत हुई है और उनकी मौत का जिम्मेदार कौन है?

डब्ल्यूसीएल मे क्यों इस प्रकार की बार-बार गलतियां क्यो होती है?

ऐसे कई प्रश्न यहां पर उठ रहे हैं और डब्ल्यूसीएल के कर्मचारियों का परिवार जानना भी चाहते हैं?