62 दिन बाद घरेलू उड़ानें शुरू ; पहली फ्लाइट दिल्ली से पुणे पहुंची

32

 

◆ दिल्ली में इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से 380 घरेलू उड़ानों की तैयारी, ऑपरेशन टर्मिनल 3 से शुरू हुआ

◆ आंध्र प्रदेश में 26 और पश्चिम बंगाल में 28 मई से शुरुआत होगी, महाराष्ट्र ने 50 फ्लाइट्स को मंजूरी दी

नई दिल्ली : देश में 62 दिन बाद घरेलू उड़ानें सोमवार से शुरू हो गईं। दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सुबह 4 बजकर 45 मिनट पर पुणे के लिए सबसे पहली फ्लाइट रवाना हुई और यह 7: 30 पुणे पहुंच गई। इसमें सवार यात्रियों ने कहा- ‘हम यात्रा के पहले नर्वस थे, लेकिन सभी यात्रियों ने सावधानी बरती। फ्लाइट्स में कम लोग सवार थे।’ आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर आज शाम तक पूरे देश फ्लाइट सर्विस बहाल हो जाएगी।

कोरोना और लॉकडाउन की वजह से सरकार ने 25 मार्च से घरेलू यात्री उड़ानों को पूरी तरह बंद कर दिया था। अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 22 मार्च से ही बंद हैं। इस दौरान मालवाहक उड़ानें और स्पेशल फ्लाइट्स का ऑपरेशन ही जारी था।

पैसेंजर खुश दिखे, फ्लाइट अटैंडेंड ने कहा- थोड़े चिंतित हैं
इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सुबह यात्री खुश दिखे। सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कर रहे थे। दिल्ली-पुणे प्लेन की फ्लाइट अटैंडेंड अमनदीप कौर ने कहा- हम पहली बार काम पर आते वक्त चिंतित हैं। हमें एयरलाइन से पहनने के लिए पीपीई किट मिलेगा।

आज 1050 फ्लाइट्स उड़ान भरेंगी

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने रविवार को बताया कि आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर 25 मई से देशभर में घरेलू उड़ानें शुरू हो जाएंगी। आंध्र में 26 मई और बंगाल में 28 मई से सीमित फ्लाइट्स को मंजूरी दी जाएगी। इससे पहले महाराष्ट्र और तमिलनाडु भी घरेलू उड़ानों के लिए मंजूरी दे चुके हैं। ये वह राज्य हैं, जो पहले घरेलू उड़ानें शुरू करने के पक्ष में नहीं थे। उड्डयन मंत्रालय के मुताबिक, सोमवार को 1050 फ्लाइट्स उड़ान भरेंगी।
पहले हफ्ते 8214 विमानों का संचालन होना है। इसमें सबसे अधिक इंडिगो की 3632, स्पाइसजेट की 1403, गो एयर की 831, एअर इंडिया की 703, एयर एशिया की 610, विस्तारा की 539, एलायंस एयर 309 फ्लाइट्स हैं।
सभी राज्यों ने यात्रियों के लिए गाइंडलाइंस जारी कीं
घरेलू उड़ान सेवाएं शुरू होने से पहले सभी राज्यों ने यात्रियों के लिए सख्त स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) तय किया है। सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। उन्हें 14 दिन के लिए होम क्वारैंटाइन में जाना होगा।